निफ्टी क्या होता है | What is NIFTY in Hindi ?

निफ्टी क्या है और ये सेंसेक्स से कैसे अलग है ?

आप लोगों ने  कभी NIFTY  के बारे में लोगों से सुना ही होगा ? क्या आपने कभी ये अवलोकन  किया है कि  बहुत सारे लोग निफ़्टी  से जुडी बात करते रहते है. पर आप उनकी बातों को समझ नहीं पाते होंगे  क्योंकि आप नहीं जानते की निफ़्टी क्या होता है ( NIFTY KYA Hai )? सकी गणना कैसे होती है ?शेयर मार्किट के लोग Nifty- Fifty ज्यादा  क्यों बोलते है  ?  तो आज हम अपने  इस आर्टिकल में  आपको NIFTY से जुडी सारी जानकारी  हिंदी में शेयर करेंगे। 


NIFTY-kya-hai
What is NIFTY 50 in Hindi


जब कभी भी Share Market  से जुडी बात होती है तब-तब निफ़्टी ( Nifty ) का नाम अवश्य लिया जाता है. हम अक्सर  आये दिन  सुनते रहते है कि  NIFTY में आज बहुत तेजी  देखी  गई  जिस से आज  निफ्टी  इतने अंक ऊपर गया या आज NIFTY में बहुत गिरावट देखि गई जिस से आज निफ़्टी  इतने अंक गिरकर बंद हुआ.  आज हम जानेंगे कि NIFTY के ऊपर जाने से या नीचे होने पर इस से Share Market पर क्या प्रभाव सकते है , तो आइये Chhoteniveshak.com में आज शुरू करते है NIFTY in Hindi क्या है ? 

What is NIFTY in Hindi |  निफ़्टी क्या है ?

निफ़्टी क्या है? NIFTY का पूरा नाम है National Stock Exchange Fifty ,इसका Hindi में मतलब होता है –  राष्ट्रीय शेयर बाजार पचास .  यह नेशनल और फिफ्टी दो शब्दों  के मेल से बना  बना हुआ शब्द है. इसको NIFTY 50 भी बोला  जाता है पर आमतौर पर ज्यादातर लोग इसको शार्ट में ही  NIFTY के नाम से बोलते है। 

NIFTY, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया का एक मत्वपूर्ण बेन्च्मार्क होता है. यह National Stock Exchange में लिस्टेड 50 प्रमुख Shares का Index  होता है. यह देश की Top 50 Companies  के शेयरों पर नजर रखता है . और इसमें सिर्फ वही Top 50 Companies के Share  को देखा जा सकता है जो की सूची में शामिल होते  है.

ये उन 50 शेयर्स जो की Listed  है उनके भाव में होने वाली  वाले उतार – चढ़ाव का भी ध्यान रखता है और उनकी भी Information  प्रदान करता है. NIFTY 50 भारत का सबसे प्रमुख और मत्वपूर्ण स्टॉक सूचकांक  है. यह देश में सबसे ज्यादा प्रचलित   होता है. दुसरे नंबर पर BSE ( Bombay Stock Exchange ) सेंसेक्स है.

 सरल भाषा में कहे तो  NIFTY एक तरह एक स्टॉक सूचकांक  (Stock Index) है जो की 50 प्रमुख Companies  के Stock  को Index  करे हुए होता है. NIFTY में 50 से ज्यादा कंपनियो के शेयर  लिस्ट नहीं किये जा सकते.

NIFTY में 12 अलग अलग Sectors की प्रमुख  50 कंपनियां शामिल  है.

निफ़्टी  का क्या काम है ?

NIFTY का काम यह होता है की हमें उन 50 Companies  और Market  की चाल के बारे में जानकारी प्रदान करने का होता है.

NIFTY से  हम यह पता लगा सकते  है कि  जिन कंपनियों के Share  लिस्टेड है वो कंपनी किस तरह काम कर रही है अगर Company  अच्छा काम कर रही होती है तो उसका सीधा असर कंपनी के शेयरों के उतार चढ़ाव में  भाव के रूप में दिखाई देता  है और उस कंपनी के शेयर्स के भाव बढ़ जाते है. और जब किसी Listed  कंपनी के शेयर्स के भाव ऊपर जाते है या बढ़ जाते है तो फिर इसकी वजह से NIFTY  में भी तेजी आ जाती है.

ठीक इसी तरह अगर Index  में लिस्टेड Companies  को Profit  कम हो रहा है या नहीं हो रहा होता है तो इसका असर भी सीधा उस Company  के शेयर्स के भाव पर पड़ता है और शेयर्स के भाव में घटने लगते है. और जब शेयर्स के भाव में गिरावट आती है तो निफ़्टी  में गिरावट देखी जा सकती है.

NIFTY और Economy ( निफ़्टी और अर्थव्यवस्था )

आप सोच रहे होंगे कि अब यह  NIFTY और Economy का क्या सम्बन्ध हो सकता है. तो हम आपको बताना चाहेंगे की निफ़्टी  और देश की अर्थव्यवस्था का गहरा बहुत गहरा  समबन्ध है.

जैसे NIFTY का ऊपर जाना हमें बताता है कि कोई Company  अच्छा Profit  कमा रही है और मुनाफा कर रही है. वैसे  ही जब कोई कंपनी अच्छा काम कर के अच्छा Paisa कमा  रही होती है तो इसके पीछे देश की अर्थव्यवस्था भी अच्छा काम रही होती है. क्योंकि जितना ज्यादा भारतीय कंपनियां कैपिटल गेन  करेंगी उतना ही ज्यादा Tax  आदि अर्थव्यवस्था में जोड़ा जायेगा जो की देश  की अर्थव्यवस्था को कहीं न कहीं मजबूत अवश्य बनाएगा.

निफ़्टी  एक तरह से हमें कंपनी के शेयर्स के भाव में होने वाले उतार चढ़ाव  की  जानकारी देता ही है इसके साथ-साथ हमें पूरे Share Market  की चाल क्या है ? यह भी समझाता है. अगर कोई Market  की चाल को समझना चाहता है तो उसे निफ़्टी  को समझना चाहिए.

NIFTY कैसे  बनता है?

 निफ़्टी  को किस तरह बनाया जाता  है या इस की Counting  किस तरह की जाती है इसका अर्थ   है कि उन 50 Listed  कंपनियों के Share  की गणना करना | NIFTY  में जहां सिर्फ प्रमुख 50 Companies  लिस्टेड होती है वहीँ NSE ( National Stock Exchange  ) में लगभग 6000 के आसपास कम्पनियाँ  listed होती है. अब उन 6000 कंपनियों में से टॉप 50 सबसे बड़ी कंपनियों को NIFTY  में रखा जाता है जिससे Market  की चाल का अनुमान लगाया जा सके.

NIFTY में लिस्टेड 50 कंपनियों के Share को ही  सबसे ज्यादा खरीदे व बेचे जाते है. NIFTY  में लिस्टेड ये 50 कंपनियां अलग-अलग सेक्टरों से चुनी हुई  होती है. ये अपने Area की सबसे बड़ी कंपनियां होती है. इनका सब कंपनियों के  Market Capitalization  पूरे Market  का लगभग 60% होता है।


NIFTY-SENSEX-KYA-HAI


जब भी इन कंपनियों के शेयर्स को इन्वेस्टर्स द्वारा ज्यादा खरीदे जाने लगते है तो निफ़्टी  ऊपर जाने लगता है और जब मंदी आती है तो NIFTY  वहीँ रुक जाता है या फिर नीचे गिरावट आने लगती  है.

NIFTY  में Listed Top 50 Companies को चुनने का Indices committee का होता है इस committee में बड़े-बड़े economist आदि शामिल होते है.

NIFTY और SENSEX में क्या अंतर है ?

NIFTY और  SENSEX वैसे  तो दोनों ही Stock Index यानी की संवेदी सूचकांक हैं. पर दोनों में कुछ अंतर है जो इन्हें एक दुसरे से अलग और एक को दुसरे से बेहतर बनाते है आइये अब जानते है , SENSEX और NIFTY में क्या अंतर है – निफ्टी National Stock Exchange ( NSE )  का हिस्सा है जबकि SENSEX – Bombay Stock Exchange ( BSE ) का हिस्सा है.

जहाँ एक और BSE यानी कि  बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज  के अंदर मात्र 30 कंपनियां ही सूचीबद्ध होती हैं वहीं निफ़्टी  के अंतर्गत 50 Companies  listed होती है. इसलिए NIFTY  को Share Market   के लिए ज्यादा विश्वासरुपी (Trusted ) माना जाता रहा है.  जब 50 कंपनियां 30 कंपनियों के मुक़ाबले में मार्केट कैपिटलाइजेशन का आंकलन Market  की ज्यादा वास्तविक स्थिति दिखाने में कर पाएंगी.

दोनों का काम वैसे एक ही है. दोनों ही Index है और दोनों का ही वास्तविक मकसद Share Market  की स्थिति बताना होता है.

NIFTY के Benifit 

वैसे तो निफ़्टी  के कई सारे बेनिफिट  है पर इनमे से कुछ प्रमुख फायदे हैं जिसकी आप को जानकारी होना आवश्यक है वो कुछ इस प्रकार है-


NIFTY-kya-hai-hindi


1. NSE (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ) किस प्रकार का काम कर रहा हैइस से  NSE के  प्रदर्शन के बारे में पता चलता है। 

2. मार्किट  में चल रही या फिर Market  में होने वाले उतार – चढ़ाव की जानकारी आसानी से मिल जाती है. अगर NIFTY नीचे जाता है तो बाजार में गिरावट  आने वाली है. बाजार की चाल का सटीक अनुमान NIFTY  के माध्यम से लगाया जा सकता है.

3. NIFTY के माध्यम से हमें देश की इकॉनमी  की जानकारी आसानी से मिल जाती है. और हमें पता लग जाता है अगर बाजार में तेज़ी बनी हुई है और NIFTY  ऊपर की तरफ जा रहा है तो इसका मतलब है की देश की अर्थव्यवस्था की ग्रोथ  भी ऊपर की और जा रही है.

My Dear Friends तो हमने Chhoteniveshak.com  पर आज हमारा आर्टिकल  था कि  What is NIFTY ( निफ्टी क्या है ?) और NIFTY के फायदे हमने इस आर्टिकल  के जरिये आपको NIFTY  से जुडी सारी जानकारी देने  की कोशिश की है. मैं आशा करता हूँ आप सभी  लोगों को NIFTY in Hindi  के बारे में समझ आ गया होगा.

मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है कि  आप लोग भी इस जानकारी को सभी  अपने मित्रों में शेयरिंग  करें, जिससे की हमारे बीच  जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की Support  की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ |

Leave a Comment

Your email address will not be published.